Popular 20+Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2018-Thenewshayari

Popular 20+Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2018

Popular 20+Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2018:-

हेल्लो दोस्तों मैं आज फिर आपका स्वागत करता हूँ। आज की हमारी इस पोस्ट में दोस्तों जैसा की आप[ सभी जानते है। मैं आपके रोजाना बेहतरीन और शानदार शायरियो का कलेक्शन लेके आता रहता हूँ, और आपका मनोरंजन करता हूँ। दोस्तों आज मैं आपके Popular 20+Desh Bhakti Shayari का कलेक्शन लेके आया हूँ। जिससे पढ़कर आप लोग बहुत खुश होंगे और साथ ही इस शायरी कलेक्शन को पढ़ने के बाद आप लोग इससे शेयर करने पे मजबूर हो जायेंगे।

अगर आप Google पर Desh Bhakti Shayari Hindi Me, Desh Bhakti Hindi Shayari, Desh Bhakti Shayari in Hindi, Hindi Desah Bhakti Shayari, Desh Bhakti Shayari Wallpaper Download, Desh Bhakti Shayari Download, Hindi Desh Bhakti Shayari, Desh Bhakti Shayari Wallpaper Download, Desh Bhakti Shayari Download, Desh Bhakti ki Shayari, Shayari Desh Bhakti, Desh Bhakti Shayari Image Download, Indian Desh Bhakti Shayari, Hindi Shayari Desh Bhakti, Desh Bhakti Shayari Photo, Shero Shayari Desh Bhakti इत्यादि के बारे में सर्च कर रहे है। तो आप सही जगह आये है। आज आपको Top 10 सुविचार संग्रह से सम्बंधित सारी बाते पढ़ने को मिलेगी।

Popular 20+Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2018-Thenewshayari

Desh Bhakti Shayari

फूलों से नहीं कहूंगा कुछ भी चमन के लिए, 
बंदूकों से नहीं कहूंगा कुछ भी अमन के लिए, 
लेकिन आप लोगो से इतना ज़रूर कहूंगा की, 
दो-चार मिनट ही सही वक़्त निकालिए अपने वतन के लिए ॥

Desh Bhakti Shayari in Hindi

फुर्सत तोह मुझे भी थी बहुत देश के लिए, 
जब पेट भर गया तोह मुझे नींद आ गयी ॥

यह भी पढ़े :-

Desh Bhakti Shayari 2018

सच है इरादे हमारे विध्वंशक नहीं है, 
अकारण युद्ध के हम भी प्रशंशक नहीं है, 
अहिंसा के पुजारी है हम लेकिन, 
सुनले दुनिया अहिंसक है हम नपुंसक नहीं है ॥

Shayari on Desh Bhakti

हमने दिया है दुनिया को शुनिया और योग का ज्ञान, 
मेरा भारत महान, हमारे कंप्यूटर इंजीनियर और वैज्ञानिक है हमारे देश की शान, 
मेरा भारत महान, हमने सारी दुनिया को सदा बाटी है मुस्कान, मेरा भारत महान ॥

Popular 20+Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2018-Thenewshayari

Desh Bhakti Shayari Bhagat Singh

अन्धकार है वहां जहाँ आदित्य नहीं है, 
मुर्दा है वो देश जहाँ साहित्य नहीं है ॥

Desh Bhakti Shayari Image Download

जो मात्र भूमि के लिए जिया करते है जो देश भक्ति का अमृत पिया करते है, 
बाहों में जिनके पौरुष लहराता है, जिनके वाणी से महाकाल गाता है, 
हाथों में अपने थामे तरल तिरंगा, जो रहे बहते शत्रु रक्त की गंगा, 
लिख दिया शिलाओं पे लघु से नारा, भारत का कण कण हमे प्राण से प्यारा, 
जब तक स्वदेश का एक जवान रहेगा, तब तक दुनिया में हिंदुस्तान रहेगा ॥

Kumar Vishwas Desh Bhakti Shayari in Hindi

आज़ाद भारत के जो सेनानी, सच्चे थे वो हिंदुस्तानी, 
कर बलिदान अपना सर्वसुख, आज़ादी पाने की जिन्होंने ठानी ॥

hindi shayari desh bhakti

देखो वीर जवानो, अपने दूध पे ये इल्जाम न आये, 
भारत माँ ये न कह दे की, मेरे बेटे वक़्त पड़ा तोह काम न आये ॥

desh bhakti shayari photo

ना जियो धर्म के नाम पर ना मारो धर्म के नाम पर इंसानियत ही है, 
धर्म वतन का बस जियो वतन के नाम पर ॥

shero shayari hindi desh bhakti

कोई हस्ती कोई मस्ती, कोई चाह पर मरता है कोई नफरत कोई मोहब्बत कोई लगाव पे मरता है ये देश है उन देवानो का यहाँ हर बाँदा अपने हिन्दुस्तान पे मरता है ॥

desh bhakti shayari hindi mai

ना सरकार मेरी है,
ना रौब मेरा है,
ना बड़ा सा नाम मेरा है,
मुझे तोह एक छोटी सी
बात का घमंड है,
मैं भारत का और भारत मेरा है।

desh bhakti sher o shayari in hindi

सर झुके बस उनकी शहादत में,
जो शहीद हुए हमारी हिफाज़त में।

desh bhakti shayari bhagat singh in hindi

दिल से मर कर भी ना निकलेगी वतन की उल्फ़त,
मेरे मिट्टी से भी खुशबू-ए-वतन आएगी.

shayari desh bhakti in hindi 

जिसे सींचा लहू से है वो यूँ खो नहीं सकती,
सियासत चाह कर विष बीज हरगिज बो नहीं सकती,
वतन के नाम पर जीना वतन के नाम मर जाना,
शहादत से बड़ी कोई इबादत हो नहीं सकती

desh bhakti hindi shayari image

सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में हैं,
देखना हैं जोर कितन बाजू-ए-कातिल में हैं,
वक्त आने दे बता देंगे तुझे ए आसमां,
हम अभी से क्या बताएं क्या हमारे दिल में हैं.

desh bhakti par shayari

लड़ें वो बीर जवानों की तरह,
ठंडा खून फ़ौलाद हुआ,
मरते-मरते भी की मार गिराए,
तभी तो देश आज़ाद हुआ

desh bhakti shayari in urdu

किसी को लगता हैं हिन्दू ख़तरे में हैं,
किसी को लगता मुसलमान ख़तरे में हैं,
धर्म का चश्मा उतार कर देखो यारों,
पता चलेगा हमारा हिंदुस्तान ख़तरे में हैं

shero shayari on desh bhakti

है नमन उनको कि जो यशकाय को अमरत्व देकर,
इस जगत में शौर्य की जीवित कहानी हो गये हैं,
है नमन उनको जिनके सामने बौना हिमालय,
जो धरा पर गिर पड़े पर आसमानी हो गये हैं

यह भी पढ़े :-

उन आँखों की दो बूंदों से सातों सागर हारे हैं,
जब मेहँदी वाले हाथों ने मंगल-सूत्र उतारे हैं.


कुछ पन्ने इतिहास के
मेरे मुल्क के सीने में शमशीर हो गएँ,
जो लड़े, जो मरे वो शहीद हो गएँ,
जो डरे, जो झुके वो वजीर हो गएँ.


चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे जश्न में हैं,
इन्कलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में हैं,
मौत जहाँ जन्नत हो ये बात मेरे वतन में हैं,
कुर्बानी का जज्बा जिन्दा मेरे कफन में हैं


अगर माटी के पुतले देह में ईमान जिन्दा हैं,
तभी इस देश की समृद्धि का अरमान जिन्दा हैं,
ना भाषण से है उम्मीदें ना वादों पर भरोसा हैं,
शहीदों की बदौलत मेरा हिन्दुस्तान जिन्दा है


अनेकता में एकता ही इस देश की शान हैं,
इसलिए मेरा भारत देश महान हैं.


अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नही !
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नही!!

Popular 20+Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2018-Thenewshayari

देशभक्ति शायरी कविता

भारत की फ़जाओं को सदा याद रहूँगा,
आज़ाद था, आज़ाद हूँ, आज़ाद रहूँगा


ये पेड़ ये पत्ते ये शाखें, भी परेशान हो जाएँ,
अगर परिंदे भी हिन्दू और मुसलमान हो जाएँ.

कहते हैं अलविदा हम अब इस जहान को,
जा कर ख़ुदा के घर से अब आया न जाएगा,
हमने लगाई आग हैं जो इंकलाब की,
इस आग को किसी से बुझाया ना जाएगा.

खूब बहती हैं अमन की गंगा बहने दो,
मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो,
लाल हरे रंग में ना बाटो हमको,
मेरे छत पर एक तिरंगा रहने दो.

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पे मरने वालो का यही बाकि निशां होंगा.

आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं,
तीन रंगों से रंगा तिरंगा अपनी ये पहचान हैं.

चढ़ गये जो हँसकर सूली, खाई जिन्होंने सीने पर गोली,
हम उनको प्रणाम करे हैं, जो मिट गये देश पर,
हम सब उनको सलाम करते हैं.

यदि प्रेरणा शहीदों से नहीं लेंगे तो ये आजादी ढलती हुई साँझ हो जायेगी
और पूजे न गए, वीर तो सच कहता हूँ कि नौजवानी बाँझ हो जायेगी.

आओ झुककर सलाम करे उनको,
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है,
खुशनसीब होते हैं वो लोग,
जिनका लहू इस देश के काम आता है.

फना होने की इज़ाजत ली नहीं जाती,
ये वतन की मोहब्बत है जनाब… 
पूछ के नहीं की जाती.

गीले चावल में शक्कर क्या क्या गिरी,
तुम भिखारी खीर समझ बैठे,
चंद कुत्तो ने पाकिस्तान जिंदाबाद क्या बोला,
तुम कश्मीर को अपने बाप की ज़ागीर समझ बैठे.

लिपट कर बदन कई तिरंगे में आज भी आते हैं,
यूँ ही नहीं दोस्तों हम ये पर्व मनाते हैं.

Popular 20+Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2018-Thenewshayari

देशभक्ति शायरी 2019

भरा नही जो भावों से बहती जिसमें रसधार नही,
हृदय नही वह पत्थर हैं, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं.


आओ झुककर सलाम करे उनको,
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है,
खुशनसीब होते हैं वो लोग,
जिनका लहू इस देश के काम आता है.

फना होने की इज़ाजत ली नहीं जाती,
ये वतन की मोहब्बत है जनाब… 
पूछ के नहीं की जाती.

गीले चावल में शक्कर क्या क्या गिरी,
तुम भिखारी खीर समझ बैठे,
चंद कुत्तो ने पाकिस्तान जिंदाबाद क्या बोला,
तुम कश्मीर को अपने बाप की ज़ागीर समझ बैठे.

लिपट कर बदन कई तिरंगे में आज भी आते हैं,
यूँ ही नहीं दोस्तों हम ये पर्व मनाते हैं.

भरा नही जो भावों से बहती जिसमें रसधार नही,
हृदय नही वह पत्थर हैं, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं.

ऐ पाक, तेरा ख़्वाब नजारा ही रहेगा,
तू क़िस्मत का मारा है मारा ही रहेगा,
तेरे हर सवाल का जबाब करारा ही रहेगा,
कश्मीर हमारा हैं और हमारा ही रहेगा.

तीन रंग का नही वस्त्र, ये ध्वज देश की शान हैं,
हर भारतीय के दिलो का स्वाभिमान हैं,
यही है गंगा, यही हैं हिमालय, यही हिन्द की जान हैं,
और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान हैं.

शहीदों के त्याग को हम बदनाम नही होने देंगे,
भारत की इस आजादी की कभी शाम नही होने देंगे.

तिरंगे ने मायूस होकर “सरकार” से पूछा कि ये क्या हो रहा हैं,
मेरा लहराने में कम और कफन में ज्यादा इस्तेमाल हो रहा हैं.

दाबोगे अगर और उभर आयेगा भारत,
हर वार पर कुछ और निखर जायेगा भारत
दस-बीस जाहिलों को ग़लतफ़हमी हुई है,
दो-चार धमाको से ही डर जायेगा भारत.

Shero Shayari Desh Bhakti

चाहता हूँ कोई नेक काम हो जाए,
मेरी हर साँस देश के नाम हो जाए,

Desh Bhakti Shayari Photo

हँसते-हँसते फाँसी चढ़कर अपनी जान गवा दी,
और बदले में दे दी ये पावन आजादी.

Hindi Shayari Desh Bhakti

मन को खुद ही मगन कर लो,
कभी-कभी शहीदों को भी नमन कर लो.

Indian Desh Bhakti Shayari

दिवाली में बसे “अली”, रमजान में बसे “राम”,
ऐसा सुंदर होना चाहिए अपना हिन्दुस्तान.

Popular 20+Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2018-Thenewshayari

Desh Bhakti Shayari Image Download

भारत का वीर जवान हूँ मैं,
ना हिन्दू, ना मुसलमान हूँ मैं,
जख्मो से भरा सीना हैं मगर,
दुश्मन के लिए चट्टान हूँ मैं,
भारत का वीर जवान हूँ मैं.

Shayari Desh Bhakti

चलो फिर से खुद को जगाते हैं,
अनुशासन का डंडा फिर घुमाते हैं,
सुनहरा रंग हैं गणतंत्र का,
शहीदों के लहूँ से,
ऐसे शहीदों को हम सर झुकाते हैं.

Desh Bhakti ki Shayari

उनके हौसले का भुगतान क्या करेगा कोई,
उनकी शहादत का कर्ज देश पर उधार हैं,
आप और हम इसलिए खुशहाल हैं 
क्योकि सीमा पे सैनिक शहादत को तैयार हैं.

Desh Bhakti Shayari Download

गूँजे कहीं पर शंख,
कही पे अजाँ हैं,
बाइबिल है, ग्रन्थ साहब है,
गीता का ज्ञान हैं,
दुनिया में खी और यह मंजर नसीब नही,
दिखाओ जमाने को यह हिन्दुस्तान हैं.

Desh Bhakti Shayari Wallpaper Download

फिर उड़ गई नींद मेरी यह सोचकर,
कि जो शहीदों का बहा वो खून 
मेरी नींद के लिए था.

Hindi Desh Bhakti Shayari

बस ये बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाए रखना,
लहू देकर भी जिसकी हिफाजत की शहीदों ने,
उस तिरंगे को सदा दिल में बसायें रखना.

Desh Bhakti Shayari Download

अलग है भाषा, धरम, जात और प्रान्त, भेष, परिवेश 
पर सबका एक है गौरव राष्ट्रध्वज तिरंगा श्रेष्ठ.

Desh Bhakti Shayari Wallpaper Download

मैं मुस्लिम हूँ, तू हिन्दू है,
है दोनों इंसान,
ला मैं तेरी गीता पढ़ लूँ, तू पढ़ ले कुरान,
अपने तो दिल में है दोस्त,
बस एक ही अरमान,
एक थाली में खाना खाए सारा हिन्दुस्तान.

Hindi Desah Bhakti Shayari

वो तिरंगे वाले DP हो तो लगा लेना…
भाई जी…
सुना है कल देशभक्ति दिखने 
वाली तारीख हैं.

Desh Bhakti Shayari in Hindi 

कुछ नशा तिरंगे की आन का हैं,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का हैं,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिन्दुस्तान की शान का हैं.

Desh Bhakti Hindi Shayari 

आजदी की कभी शाम नही होने देंगे,
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नही होने देंगे,
बची हो जो इस बूँद भी गर्म लहू की,
तब तक भारत के आंचल नेलाम नही होने देंगे.

Popular 20+Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2018-Thenewshayari

Desh Bhakti Shayari Hindi Me

दे सलामी इस तिरंगे को
जिस से तेरी शान हैं,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
जब तक दिल में जान हैं…!!!

दोस्तों मैं उम्मीद करता हूँ, आपको हमारी आज का शायरी का कलेक्शन पसंद आया होगा। तो दोस्तों इस शायरी कलेक्शन का अपने दोस्तों, रिश्तेदारों इत्यादि के साथ शेयर करना ना भूले ताकि आपके दोस्त भी इस शायरी कलेक्शन का आनंद ले सके। तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही मिलते है। अगली पोस्ट में तब तक के लिए में आपसे इज्जाजत चाहता हूँ। अपने आस-पास स्वच्छता बनाये रखे और अपना ध्यान रखे।

Thanks For Reading






Tags :- top 10 desh bhakti shayari, desh bhakti shayari video, desh bhakti shayari, attitude desh bhakti shayari 2020 in hindi, desh bhakti shayari 2 line, desh bhakti shayari, 2019 ka desh bhakti shayari image, kumar vishwas desh bhakti shayari in hindi.

Post a Comment

0 Comments