Republic Day Shayari in Hindi || गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

हेलो,
दोस्तों सबसे पहले मैं आप सब को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूँ। जैसा की आप सभी को पता भारत वर्ष का सबसे बड़ा त्यौहार आ रहा है। इस दिन के लिए हमारी कई वीर जवान शहीद हुए है। और उनके बलिदान के कारण की आज हम सब इस दिन को याद कर पाते है। सलाम है भारत के वीर जवानो को जिन्होंने अपने प्राणो की आहूति देकर गणतंत्र कि स्थापना की। दोस्तों आज हम सभी भारत वर्ष के सबसे त्यौहार को मानते है। और अपने शहीद वीर जवानो को याद करते है। इसी शुभ अवसर पर आज हम लेके आये है। गणतंत्र दिवस पर शायरी उम्मीद है। आप अभी को हमारा शायरी का संग्रह बहुत पसंद आएगा। और आप सभी इसे अपने देशवासियो, दोस्तों के साथ साझा करेंगे।


Republic Day Shayari in Hindi || गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

अगर आप सभी गणतंत्र दिवस की शुभकामनाये शायरी के जरिये देना चाहते है। तो आपके लिए आज हम लेके आये है। बेस्ट शायरी संग्रह जिसमे आपको Republic Day Shayari in Hindi, Republic Day Shayari in Hindi 2020, Republic Day par Shayari, Hindi Shayari Repulic Day 2020, In English Repulic Day Shayari,In Hindi Republic Day Shayari, Shayari Republic Day Par, Republic Day Shayari in Hindi, गणतंत्र पर शायरी हिंदी में, 26 बेस्ट शायरी फॉर रिपब्लिक डे, शहीदों के सम्मान में शायरी, वीर जवानो के नाम शायरी, देशभक्ति शायरी आदि Topics पर शायरी मिलेगी।

26 January Shayari Hindi Mai
26 January Shayari Hindi Mai
ज़माने भर में मिलते आशिक़ कई,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,
नोटों ने भी लिपट कर, 
सोने में भी सिमटकर मरे है कई,
मगर में सिमटसर मरे है कई,
मगर तिरंगे से खूबसूरत,
कोई कफ़न नहीं होता। 

Republic Day Shayari in Hindi
चलो फिर से वो नजारा याद कर ले,
शहीदों के दिलो में थी वो ज्वाला याद कर ले,
जिसमे बहकर आजादी पहुंची थी किनारे पे,
देशभक्तो के खून की वो धारा याद कर ले। 

Happy Republic Day Shayari in Hindi
कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है। 


मैं भारत बरस का हरदम,
अमित सम्मान करता हूँ,
यहाँ की चांदनी मिट्टी,
का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है,
स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा को कफ़न मेरा,
बस यही अरमान रखता हूँ। 


बलिदानो का सपना जब सच हुआ,
देश तभी आजाद हुआ,
आज सलाम करे उन वीर वीरो को,
जिनकी शहादत से ये भारत गणतंत्र हुआ। 


देशभक्तो से ही देश की शान है,
देशभक्तो से ही देश का मान है,
हम उस देश के फूल है यारो,
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है। 


तैरना है तो समंदर में तैरो, 
नदी नालो में क्या रखा है,
प्यार करना है, तो वतन से करो,
इन बेवफा लोगो में क्या रखा है। 


अनेकता में एकता हमारी शान है,
इसलिए मेरा भारत महान है।  



इतनी सी बात हवाओ को बताये रखना,
रौशनी होगी विचारो को जलाये रखना,
लाहू देकर की है, जिसकी हिफाज़त हमने,
ऐसे तिरंगे को हमेशा अपने दिल में बसाए रखना।   


आजादी की श्याम होने नहीं देंगे,
शहीदों की क़ुरबानी बदनाम होने नहीं देंगे,
बची हो जो एक भी बून्द लहू की,
तब तक भारत माता का आँचल,
नीलाम होने नहीं देंगे। 


आज सलाम है उनको जिनके कारण ये दिन आता है,
खुशनसीब होती है वो माँ,
जिनके बच्चो का बलिदान,
इस देश के काम आता है। 


तिरंगा लहरायेंगे,
भक्ति गीत गुनगुनायेंगे,
वादा करो इस देश को,
दुनिया का सबसे प्यारा देश बनायेगे। 


करे सलाम इस तिरंगे को, 
जो हमारी शान है,
सदा सर रखना ऊंचा इसका,
जब तक शरीर में जान है। 


मेरे जज्बातो से इस कदर वाकिफ है,
मेरी कलम,
मैं इश्क़ भी लिखना चाहूँ तो,
इंकलाब लिख जाता है।   

सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा,
हम बुलबुले है, इसके ये गुलसिता हमारा। 


ना जियो धर्म के नाम पर,
ना मरो धर्म के नाम पर,
इंसानियत ही है, धर्म वतन का,
बस जियो वतन के नाम पर।  


देश भक्तो के बलिदान से स्वतंत्र हुए है। हम,

कोई पूछे तुम कौन हो तो,
गर्व से कहेगे भारतीय है। हम,


मेरे देश का मान हमेशा बनाए रखूँगा,

दिल तो क्या जान भी इस पर निछावर करुगा,
अगर मिले मौका देश के काम आने का,
तो बिना कफ़न के ही देश के लिए मिट जाउगा। 


आजाद भारत में जीते है। हम,
आगे बढ़ने का ख़्वाब देखते है। हम,
भारत फिर से सोने की चिड़िया बन जाए,
ऐसी कोशिश करते है, हम।  


इस दिन के लिए वीरो ने,
अपना खून बहाया है,
झूम उठो देशवासियो,
गणतंत्र दिवस फिर आया है। 


देश्बक्ति की ज्वाला जलाये,
चलो अब गणतंत्र दिवस मनाये। 


एक देश अपना भारत,

जो बने सर्वश्रेष्ठ भारत। 


गणतंत्र दिवस एक पर हैं,

जिस पर हम सभी भारत वासियो को गर्व है। 


पूरी दुनिया में चलो नाम कमाए,

सब मिलकर एक मजबूत गणतंत्र बनाए। 


चलो मिलकर अखण्ड भारत बनाए,

जिसमे सभी को अधिकार दिलाए। 


चलो फिर से खुद को आगे जगाते हैं,

शहीदों के आगे अपना सिर झुकाते है। 


हमको मिला हैं, एक सविंधान,

जिसमे है, सारा सुखी विधान। 


यह है बलिदानो की धरती,

हर कोई करता है, इसे सलाम,
बहती है, यहाँ प्रेम की गंगा,
हर दिल में बसता है, तिरंगा। 


गणतंत्र दिवस आया है,

खुशिया भर-भर कर लाया है। 


नफरत बुरी है ना पालो इसे,

दिलो में खालिश है निकालो इसे,
ना तेरा.... ना मेरा..... ना उसका,
ये सबका वतन है सम्भालो इसे।    


गूँज रहा है दुनिया में भारत का नगाड़ा,

चमक रहा है आसमा में देश का सितारा,
आजादी के दिन आओ मिलकर करे दुआ,
की बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा। 


ना सरकार मेरी है न रोब मेरा है,

न बड़ा सा नाम मेरा है,
मुझे तो एक छोटी सी बात का गर्व है,
की में हिंदुस्तान का हूँ और ये,
हिंदुस्तान मेरा है। 

ना जुबान से, ना निगाहो से,

ना दिमाग से, ना रंगो से,
ना ग्रीटिंग से, ना गिफ्ट से,
आपको 26 जनवरी की शुभकामनाएं डायरेक्ट दिल से।  


ना मरो सनम बेवफा के लिए,
2 गज जमीन नहीं मिलेगी दफ़न के लिए,
मरना है, तो मरो अपने वतन के लिए,
हसीना भी दुपट्टा उत्तार देगी कफ़न के लिए। 


वतन हमारा ऐसा कोई छोड़ ना पाये,

रिश्ता हमारा ऐसा कोई तोड़ ना पाये,
दिल एक है जान एक है, हमारी,
हिंदुस्तान हमारा है यह शान है हमारी।


ये बात हवाओ को बताये रखना,

रौशनी होगी चिरागो को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की हमने,
ऐसे तिरंगे को दिल में बसाये रखना। 

आजादी का जोश कभी काम ना होने देंगे,

जब भी जरुरत पड़ेगी देश के लिए जान लुटा देंगे,
क्योकि भारत हमारा देश है,
अब दोबारा इस पर कोई आंच ना आने देंगे।  


भारत की पहचान हो तुम,

जम्मू की जान हो तुम, सरहद का अरमान हो तुम,

दिल्ली का दिल हो तुम,
और भारत का नाम हो तुम। 


मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए,

बस अमन से भरा यह वतन चाहिए,
जब तक जिन्दा रहू, इस मातृ-भूमि के लिए,
और जब मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिए। 


लिख रहा हो अनजान जिसका आगाज कल आयेगा,

मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लायेगा,
मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,
मेरे बाद वतन पर मरने वालो का सैलाब आयगा।  


आन देश की, शान देश की, इस देश की हम संतान है,

तीन रंगो से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान है,
सीने में जूनून और आँखों में देशभक्ति की चमक रखता हूँ दुश्मन की,
सांसे थम जाये, आवाज में इतनी धमक रखता हूँ। 


जब आंख खुले तो धरती हिंदुस्तान की हो,

जब आंख बंद हो तो यादे हिंदुस्तान की हो,
हम मर भी जाए तो कोई गम नहीं लेकिन,
मरते वक्त मिटटी हिंदुस्तान की हो।  


वीरो के बलिदान के कहानी है ये,

माँ के कुर्बान लालो की निशानी है ये,
यु लड़-लड़ कर इसे तबाह ना करना,
देश है कीमती,
उसे धर्म के नाम पर नीलम न करना।  


बड़े ही अनमोल है ये खून के रिश्ते,
इनको तू बेकार न कर,
मेरा हिस्सा भी तू ले ले मेरे भाई,
घर के आँगन में दिवार ना कर।  


 गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

उम्मीद करते है। आपको गणतंत्र दिवस के अवसर पर हमारा शायरी संग्रह पसंद आएगा और आप इस गणतंत्र दिवस पर अपने प्रियजन, रिश्तेदार, दोस्तों के साथ इसे साझा करेगे। इस बार आप सभी गणतंत्र दिवस पर शुभकामनाए देने के लिए हमारे शायरी संग्रह का उपयोग करे।आप सभी को हमारी और से एक बार और गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर हार्दिक शुभकामनाये। 

जय हिन्द जय भारत



और इन्हे भी सोशल मीडिया पर करना ना भूले।  

Post a Comment

0 Comments